सलमान खान की रेस 3 के सामने पार्थ सिंह चौहान की मूवी,क्रिना शानदार तरीके से तीसरे सप्ताह में।

पार्थ सिंह चौहान और तुनिषा शर्मा के अभिनय से सजी फ़िल्म क्रिना पहले सप्ताह में जबरदस्त सफलता पाने के बाद अपने दूसरे सप्ताह रेस 3 के सामने दस्तक़ देते हुये अब तीसरे सप्ताह  में प्रवेश कर गई है। नवोदित अभिनेता पार्थ सिंह चौहान की दमदार एक्टिंग से सजा यह बेहतरीन सिनेमा अब अपने तीसरे वीक में भी दर्शको की पसन्दीदा बना हुआ है। क्रीना फ़िल्म की टीम के लिए यह किसी अवार्ड से कम नही है क्योंकि इन दिनों जहां पहला सप्ताह बखूबी चल जाना ही बड़ी बात मानी जाती है वहीं ऐसे हालात में फ़िल्म का तीसरे हफ्ते में चलना एक बड़ा अचिवमेंट है। वह भी ऐसी तारीख में जब सलमान खान की फ़िल्म रेस 3 भी रिलीज़ हो चुकी है क्रीना का तीसरे हफ्ते में एंट्री करना यह सिद्ध करता है कि फ़िल्म में कुछ तो दम है।

आपको बता दें कि निर्माता हरविंद सिंह चौहान की यह फ़िल्म ८ जून २०१८ को रिलीज़ हुई थी। जिसको दर्शको ने हाथों हाथ लिया निर्माता हरविंद सिंह चौहान ने क्रीना के द्वारा कुछ नया प्रयोग किया और उसे क्रिटिक्स के साथ साथ दर्शक ने भी सराहा.सूत्रों के मुताबिक़ फ़िल्म अब तक कि 5 करोड़ 32 लाख से ज्यादा का बिज़नेस कर चुकी है । देखना यह है कि तीसरा हप्ता के क्या कलेक्शन करता है।

इस फिल्म में हालाँकि स्वर्गीय इंदर कुमार, दीपशिखा, सुदेश बेरी, शहबाज खान, सुधा चंद्रन जैसे इडस्ट्री के कई वरिष्ठ कलाकार हैं मगर नायक एक नया लड़का है।जिसे आप फिल्म के हीरो भी कह सकते है।क्रीना का नायक पार्थ सिंह चौहान है, जिसने इतनी छोटी सी उम्र में अपनी प्रतिभा के जलवे दिखा दिए हैं.

पार्थ फिल्म्स् इंटरनेशनल के बैनर तले बनी यह हिन्दी मूवी “क्रीना” एक नये विषय को लेकर और युवाओं को प्रेरित करती एक सोशल फिल्म है जो सामाजिक चेतना को जगाती है। क्रिना नामक एक किशोर जैसे गाँव के एक कबीले के कमीने सरदार को सबक सिखाता है यही इस फ़िल्म में दिखाया गया है।

क्रिना कैसे खुद में मौजूद सुपर पावर का सकारात्मक इस्तेमाल करता है, यही है  “क्रीना” की कहानी। संगीतकार दिलीप सेन ने लंबे अर्से बाद इस फिल्म में संगीत दिया है और बड़ी अच्छी कर्णप्रिय धुनें बनाई है।

एक्शन भी कमाल का है। इस फिल्म के निर्देशक श्यामल के. मिश्रा ने भी निर्देशन बखूबी किया है।

फ़िल्म क्रिना को इस लिए पसन्द किया जा रहा है क्योंकि यह एक एक्शन और सोशल ड्रामा फ़िल्म है, जो दूसरी फिल्मों से हट कर है। नई तकनीकों  के इस्तेमाल की वजह से यह फिल्म बेहद खूबसूरत और असरदार है।

—-Akhlesh Singh (PRO)

Print Friendly, PDF & Email

By admin